बाढ़ में आधा हिंदुस्तान, यूपी से असम तक पानी ही पानी, अबतक 140 की मौत

आधा हिंदुस्तान बाढ़ की चपेट में है.

उत्तर प्रदेश से असम तक पानी अपनी विनाश लीला दिखा रहा है. देश के उत्तर पूर्वी राज्य असम में बाढ़ की वजह से अब तक 59 लोगों की मौत हो चुकी है. जबकि नॉर्थ ईस्ट के सभी राज्यों को मिला दें तो अब तक कम से कम 80 लोग बाढ़ की वजह से जान गवां चुके हैं.

यूपी के गोंडा जिले में घाघरा नदी के पानी से लोग खौफ में जीने को मजबूर है. यहां बांध टूटने से नदी का पानी झोपड़ियों तक आ पहुंचा है. जो बांध टूटा है उस पर बीते तीन साल में 100 करोड़ रुपये खर्च किए जाने का दावा हुआ था, लेकिन वो दावा भी पानी में बह गया. बांध कटने की वजह से कई गांव पानी में घिर गए हैं. लोगों को नाव से चलकर दूसरी जगह जाना पड़ रहा है. वहीं, नकहरा गांव के लोगों ने ऊंची जगहों पर शरण ले रखा है. ग्रामीण सड़क के किनारे तिरपाल के नीचे रहने को मजबूर हैं.
मध्य प्रदेश
मध्य़ प्रदेश के अगर मालवा जिले में मानसून की बारिश से कंठाल नदी उफान पर है. नदी का पानी पुलिया के ऊपर से गुजर रहा है. इसे पार करने की कोशिश कर रही एक गाय नदी के तेज बहाव में बह गई. नदी में कुछ दूर बहने के बाद गाय को किनारा मिला लेकिन दोबारा वो नदी में बह गई. यहां लोग अपनी जान जोखिम में डालकर पुलिया को पार करने की कोशिश कर रहे हैं.
असम
 देश के उत्तर पूर्वी राज्य असम में पानी लोगों के लिए परेशानी बन गई है. असम के 33 में से 24 जिले बाढ़ की चपेट में हैं. गोलाघाट के कई रिहायशी इलाकों में बाढ़ का पानी घुस गया है. लोग बहते पानी के बीच लोग रास्ता तय करने पर मजबूर हैं.
काजीरंगा पार्क में 53 जानवरों की मौत
असम के काजीरंगा नेशनल पार्क में 77 फीसदी हिस्सा पानी में डूब गया है, जिसकी वजह से यहां 53 जानवरों की मौत हो चुकी है.  जानवरों ने अपनी जान बचाने के लिए छोटे-छोटे टापूओं पर शरण ले रखी है. काजीरंगा पार्क में डॉक्टरों की टीम बीमार जानवरों के इलाज में जुटी हुई है.
 asam 01
असम में बाढ़ की वजह से 49 लोगों की जान चली गई है. असम में 17 लाख से ज्यादा लोग बाढ़ से प्रभावित हैं.
अरुणाचल प्रदेश
अरुणाचल प्रदेश भी बाढ़ से बेहाल है. राज्य के पापुन पारे जिले का बड़ा हिस्सा में पानी में घिरा हुआ है. आधा हिंदुस्तान बाढ़ और बारिश से परेशान है, गांव, शहर और मोहल्ले पानी की लीला के आगे बेबस हैं. इंसानों के साथ-साथ जानवार भी अपनी जान बंचाने के लिए सुरक्षित जगह ढूंढ रहे हैं.
राहत और बचाव के लिए लगाई गईं 39 टीमें
एडीआरएफ अब तक देश के कई राज्यों में आई बाढ़ से अब तक 1300 पीड़ित व्यक्तियों को रेस्क्यू कर चुकी है. मॉनसून को लेकर देश भर में 39 टीम लगाई गई है जो राहत और बचाव का कार्य कर रही है.
मौसम विभाग के मुताबिक आज साउथवेस्ट मध्य प्रदेश के अलग-अलग इलाकों में बहुत भारी से भारी बारिश हो सकती है. गुजरात रीजन और ईस्ट राजस्थान के इक्का दुक्का इलाकों में भारी बारिश हो सकती है.  इसके साथ ही ईस्ट मध्य प्रदेश, कोंकण, गोवा, मध्य महाराष्ट्र, वेस्ट राजस्थान, गैंगटिक वेस्ट बंगाल, ओडिशा और कोस्टल कर्नाटक में बहुत भारी बारिश हो सकती है.
Source:-www.abpnews.com

Comments