बीयर के पीने के फायेदे…..

बीयर के अंदर फॉलिक एसिड होता है जो हार्ट अटैक से बचाने में मदद करता है। डार्क बीयर में अधिक एंटी-ऑक्सीडेंट्स होते हैं। विटामिन से लाभ के लिए बीयर का सेवन किया जा सकता है। 1999 में ब्रिटिश मेजिकल जनर्ल की एक रिपोर्ट सामने आई थी जिसमें बताया गया था कि रोजाना 3 ड्रिंगस  पीने से दिल की बिमारियां 24.7 प्रतिशत तक कम हो जाती है। वैसे यह भी बताया जात है कि वाइन दूसरे एल्कोहोलिक पदार्थों से ज्यादा फायदेमंद होती है।
बीयर के पीने के फायेदे…..
वहीं, अगर कैंसर जैसी घातक बीमारी की बात करें तो बीयर इससे लड़ने में भी मदद करती है। बीयर को बनाने के लिए पौधे का इस्तेमाल होता है जिसमें एक्सनथोहूमोल होता है। जो कैंसर जैसी बीमारी से लड़ने में मददगार होता है, और यह एंटी-ऑक्सीडेंट केवल बीयर में ही मिलते हैं।
बीयर से मोटे नही होते है।
बीयर में कैलोरी की मात्रा कम होती है। कार्बोहाइड्रेट की मात्रा भी बहुत कम होती है। इसमें कोलेस्ट्रॉल नही होता है। साथ ही यह भी बात सामने आई है कि यूनिवर्सिटि कॉलेज ऑफ लंदन और इंस्टीट्यूट क्लिनिक में एक प्रयोग किया गया था जिसमें यह बात सामने आई थी कि इंसान के पेट निकलने और बीयर को सेवन करने में कोई समानता नहीं है। इससे अलग एक रिसर्च में यह बात सामने आई थी कि संतुलित मात्रा में बीयर पीने वाले लोगों का वजन बीयर न पीने वालों से कम होता है।
बीयर पिने से किडनी में स्टोन नहीं होता
आज कल देखा जा रहा है कि पथरी की शिकायत बहुत सामने आ रही है। इसकी शिकायत को लेकर डॉक्टर भी बीयर पीने की सलाह देता है। इसी के चलते अमेरिका की एक रिपोर्ट के मुताबिक पता चला है कि किडनी में पथरी की शिकायत कम हुई है जिसमें पता चला है कि 40% बीयर पीने वालो में किडनी की पथरी होने का खतरा पीयर नही पीने के मुकाबले कम हो गया है। लेकिन ऐसा बीयर में क्या है जो पथरी होने से बचाती है उसका पता नही लगा पाए है।
बीयर से होती है हड्डिया मजबूत और साथ ही विटामिन बी की मात्रा ज्यादा 
बीयर में सिलिकॉन पाया जाता है जो हड्डियों को मजबूत करने में मदद करता है। इसकी मात्रा अलग अलग बीयर में अलग अलग होती है। बीयर के अंदर विटमिन बी की मात्रा भी अधिक बताई जाती है। लाइट बीयर या अनफिल्टर में पौष्टिक कि मात्रा बहुत अधिक होती है। इसमें फॉलिक एसिड होता है, साथ ही घुलनशील फाइबर भी होता है। जिससे फाइबर हमारे शरीर में से गंदगी को बाहर कने में मदद करता है। इसकी मदद से मेगनिशियम और पोटैशियम का स्तर भी बढ़ाने में मदद करता है।

Comments