पेटीएम अब लॉन्च करेगा इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप


इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट और ई-कॉमर्स कंपनी पेटीएम मैसेजिंग सर्विस लॉन्च करने की तैयारी में है. मौजूदा दौर में भारत का कोई भी इंस्टैंट ऐसे इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप ऐसे नहीं हैं जो व्हाट्सऐप और मैसेंजर से टक्कर ले सकें.
सूत्रों के मुताबिक इस महीने के आखिर तक व्हाट्सऐप और मैसेंजर को टक्कर देने के लिए व्हाट्सऐप इस ऐप को पेश कर सकती है. गौरतलब है कि पेटीएम के पास कई बड़े निवेशक हैं जो इसके लिए निवेश कर सकते हैं. निवेशकों में सॉफ्टबैंक से लेकर सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी अली बाबा भी शामिल है.
रिपोर्ट्स के मुताबिक पेटीएम के मैसेजिंग प्लेटफॉर्म पर यूजर्स ऑडियो, वीडियो, फोटोज और टेक्स्ट भेजे जा सकेंगे. पेटीएम के पास फिलहाल देशभर में 225 मिलियन से ज्यादा कस्टमर्स हैं. जबकि इंस्टैंट मैसेजिंग व्हाट्सऐप के पास 1 अरब से भी ज्यादा यूजर्स हैं, इसलिए चैलेंज बड़ा है.
चूंकि पेटीएम ई-कॉमर्स वेबसाइट है, इसलिए मुमकिन है कंपनी अपने इंस्टैंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म में ऑनलाइन शॉपिंग और रीचार्ज का भी ऑप्शन रखेगा. यानी इसमें खाना ऑर्डर करने से लेकर रेवले टिकट और बिल पेमेंट की सुविधा दी जा सकती है.
भारत के भी कुछ इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप हैं जो देश में पॉपुलर हैं. हालांकि इनका यूजरबेस ज्यादा नहीं है. उदाहरण के तौर पर हाइक मैसेंजर में के यूजर्स में बढ़ोतरी देखी जा सकती है. हाल ही में कंपनी ने अपने मैसेंजर ऐप में पेमेंट सर्विस शुरू करने का ऐलान किया है.
व्हाट्सऐप, जो पूरी तरह से इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप है अब ऑनलाइन पेमेंट के टूल के रूप में भारतीय यूजर्स के लिए उपलब्ध हो सकता है. कई रिपोर्ट्स से यह खुलासा हुआ है कि व्हाट्सऐप इसके लिए यूपीआई के साथ करार करेगी और अपने प्लेटफॉर्म पर ट्रांजैक्शन सर्विस देगी.
फिलहाल पेटीएम ने इस डेवेलपमेंट के बारे में आधिकारिक तौर पर कुछ भी नहीं कहा है . अभी यह भी साफ नहीं है कि इसके  लिए खास ऐप लॉन्च होगा या फिर मौजूदा पेटीएम ऐप में ही अपडेट के जरिए ये फीचर जोड़ा जाएगा.
बहरहाल अगर ऐसा ही भी तो कंपनी के लिए यह बड़ा चैलेंज है. क्योंकि यहां इसके प्रतिद्वंदियों की संख्या ज्यादा है और उनकी पकड़ भारत सहित दुनिया भर में काफी ज्यादा है

Comments