खाद्य पदार्थो की कीमतें बढ़ने से थोक महंगाई दर बढ़ी



खाद्य पदार्थो की कीमतें बढ़ने से थोक महंगाई दर बढ़ी
 खाद्य पदार्थो की कीमतें बढ़ने से देश के थोक मूल्य सूचकांक पर आधारित महंगाई दर जुलाई में बढ़कर 1.88 फीसदी रही। केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, जुलाई में थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) पर आधारित महंगाई दर बढ़कर 1.88 फीसदी रही, जबकि जून में यह 0.90 फीसदी थी।

थोक महंगाई दर जुलाई 2016 में वार्षिक आधार पर 0.63 फीसदी बढ़ी है।
मंत्रालय ने जुलाई के लिए ‘इंडेक्स नंबर्स ऑफ होलसेल प्राइस इन इंडिया’ रपट में कहा, थोक मूल्य सूचकांक पर आधारित वार्षिक महंगाई दर जुलाई 2017 में 1.88 फीसदी रही, जबकि यह जून 2017 में 0.63 फीसदी थी।

रपट के मुताबिक, वित्त वर्ष में अब तक महंगाई दर 0.62 फीसदी रही, जबकि पिछले साल की समीक्षाधीन अवधि में यह 3.81 फीसदी थी।
प्राथमिक वस्तुओं पर खर्च 0.46 फीसदी बढ़ा है, जबकि जून 2017 में यह नकारात्मक 3.86 फीसदी था।
इसी तरह खाने-पीने की वस्तुओं के दाम में 2.15 फीसदी की वृद्धि हुई है, जबकि जून 2017 में यह दर घटकर नकारात्मक 3.47 फीसदी रही थी। वहीं, जुलाई 2017 में यह आठ फीसदी बढ़ी थी।
प्याज की कीमतें सालाना आधार पर घटकर नकारात्मक 9.50 फीसदी रही है, जबकि आलू की कीमतें गिरकर नकारात्मक 42.45 फीसदी रहीं।

जुलाई महीने में सब्जियों की कीमतें बढ़कर 21.95 फीसदी रहीं, जबकि एक साल पहले समान अवधि में यह 12.59 फीसदी बढ़ी थी।

हालांकि, गेंहू की कीमत घटी हैं। गेंहू नकारात्मक 1.16 फीसदी रहा। प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थ जैसे अंडे, मांस और मछली की कीमत बढ़ी है और यह बढ़कर 3.30 फीसदी रही है।
ईंधन और बिजली की कीमतें बढ़कर 4.37 फीसदी रही हैं।

हाईस्पीड डीजल की कीमत जुलाई में बढ़कर 5.49 फीसदी रही है, जबकि पेट्रोल की कीमत बढ़कर 9.60 फीसदी और एलपीजी की 0.28 फीसदी रही है।

Credit:-आईएएनएस

Comments